सीधी। मध्यप्रदेश के सीधी जिला अंतर्गत सोन नदी में मानवता को झकझोर देने वाली एक तस्वीर सामने आई है। कयास लगाए जा रहे है कि किसी कलयुगी मां ने अपना पाप छुपाने के लिए ऐसा कृत्य किया है। बताया यक्ष गया कि मंगलवार की सुबह गऊ घाट में नवजात बच्चे का शव बालू में दवा हुआ दिखा। जैसे ही श्रद्धालुओं की नजर उस ओर पड़ी सब अवाक रहे गए।

मकर संक्रांति के दूसरे दिन हजारों की संख्या में मेला देखने पहुंचे महिलाओं और बच्चों में सनसनी फैल गई। आनन-फानन में घटना की सूचना थाना पुलिस को दी गई। जानकारी लगते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने जैसे ही यह तस्वीर देखी तो सबके भी होश उड़ गए। फिलहाल थाना पुलिस ने नवजात बच्चे का शव कब्जे में लेकर पीएम लिए अस्पताल भेज दिया है।

ये है मामला 
पुलिस ने बताया कि मकर संक्रांति के दूसरे दिन सोन नदी के प्रसिद्ध गऊघाट में भारी संख्या में श्रद्धालु पहले नदी में स्नान करते है फिर मेला में शामिल होते है। मंगलवार को देवघटा गांव स्थित घाट में जैसे ही भक्त स्नान के लिए नदी पर उतरे उसी समय एक नवजात का शव दिख गया। जैसे ही नवजात का शव बालू में दबे होने की बात लोगों को पता चली तो मेला क्षेत्र में हड़कंप की स्थितियां बन गई। नदी में स्नान कर रहे भक्त पानी से निकलकर दूर भाग कर खड़े हुए। आनन-फानन में हादसे की जानकारी थाना पुलिस को दी गई। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को नदी से बरामद कर पीएम के लिए अस्पताल भेज दिया है।

Post a Comment