नीमच। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार दोपहर हुए अभी तक के सबसे बड़े आत्मघाती हमले ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर हुए इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए हैं, जबकि कई जवान अभी भी घायल हैं। इस हमले के बाद आज पूरा देश पाकिस्तान को कोस रहा है। देशभर में जगह जगह पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाकर मुस्लिम जनों ने कहा की crpf के 40 जवानों की शहादत ना भूलेंगे ना इसे बख्शना चाहिए आतंक को कुचलने के लिए आतंकियों का सफाया होना जरूरी है आतंक का कोई महजब नहीं होता आतंक तो बस देश की फिजा मैं जहर घोलता है।

नीमच में भी मुस्लिम समुदाय ने जामा मस्जिद पर जुम्मे की नमाज अदा करने के बाद सड़को पर आतंक को कुचलने के विरोध में उनका हुजूम उतर आया ओर आतंकी पुतला दहन कर विरोध जताया। जमकर पाकिस्तान मुर्दाबाद हिंदुस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए।

शहरकाजी सद्दाम हुसैन अंसारी ने अपने इरादे स्पष्ट करते हुवे कहा कि आतंक का कोई मजहब नही है, आतंक का खात्मा जरूरी है। पुलवामा में 40 जवानों की शहादत पर अफसोस बया करते हुवे, हादसे का विरोध प्रकट करने की बात कही। 

आतंकी पुतला दहन के मौके पर मुन्ना भाई दुर्रानी, शाहीदभाई काले, अनवर भाई सहित मुस्लिम समुदाय के लोग मौजूद थे।

Post a Comment