*पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, LoC के पास रह रहे सोशल एक्टिविस्ट 58 साल के मोहम्मद रज्जाक चौधरी ने आसमान में किसी धमाके की आवाज को सुना।*

*जब वह पास गए तो देखा कि एक एयरक्राफ्ट में आग लगी हुई थी. रज्जाक ने जमीन पर एक पैराशूट उतरते देखा. पैराशूट से अभिनंदन एक तालाब में कूदे और कुछ दस्तावेज और मैप्स निगलने की कोशिश की. रज्जाक के मुताबिक, पैराशूट से उतरा पायलट बिल्कुल सुरक्षित और शांत दिख रहा था।*

*अभिनंदन ने वहां जमा हुए लोगों से पूछा कि वह भारत में हैं या पाकिस्तान में? जिसके जवाब में एक बच्चे ने चालाकी दिखाते हुए कहा कि वह भारत में ही हैं. पायलट ने इसके बाद नारे लगाए और पूछा कि भारत में वह किस जगह पर हैं।*

*उसी लड़के ने अभिनंदन को बताया कि वह किला में हैं. अभिनंदन के देशप्रेम भरे नारों को कुछ पाकिस्तानी युवा पचा नहीं पाए और पाकिस्तान आर्मी जिंदाबाद का नारा लगा दिया. अभिनंदन समझ गए कि वह पाकिस्तान में हैं लेकिन बिना डरे उन्होंने हवा में फायरिंग की।*

*हाथों में पत्थर लिए हुए लोगों को डराने के लिए भारतीय पायलट ने हवा में फायरिंग की. इस मुश्किल परिस्थिति में भी अभिनंदन ने साहस बनाए रखा और पाकिस्तान के आम नागरिकों की सुरक्षा का भी ध्यान रखा. वह एक तालाब में कूदे और अपनी जेब से कुछ डॉक्युमेंट निकालकर उन्हें नष्ट करने की कोशिश की, ताकि पाकिस्तानी सेना के हाथ कुछ ना आ पाए।*

*पाकिस्तान में जारी किए वीडियो में भारतीय पायलट अभिनंदन घायल दिखते हैं और उनके हाथ भी बंधे हुए हैं. उनके चेहरे पर खून बहता दिखता है लेकिन चेहरे पर वहीं हौसला और वही हिम्मत नजर आती है।*

*दुश्मन की कैद में होने के बावजूद भारतीय पायलट अभिनंदन की हिम्मत बिल्कुल भी डगमाती दिखाई नहीं देती है।*

*अभिनंदन के पिता भी वायुसेना में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।*

Post a Comment