नीमच ।शहर में हनी ट्रैप का मामला सामने आया है। कुछ युवकों ने युवतियों के साथ मिलकर कांग्रेस के कार्यकारी जिलाध्यक्ष के पुत्र को झांसे में लेकर ना केवल पिटाई की बल्कि उससे लाखाें रुपए भी लिए। युवक की शिकायत पर पुलिस ने 2 युवतियों सहित 6 लोगों पर मामला दर्ज किया। दो साल में दोनों कॉमन फ्रेंड के जरिए संपर्क में आए थे। 
जानकारी अनुसार कांग्रेस के कार्यकारी जिलाध्यक्ष बाबू सलीम के पुत्र वसीम चौपदार (33) निवासी पुराना धोबी मोहल्ला कैंट ने पुलिस में शिकायत कराई है कि कुछ युवती और युवकों ने उसे जबरन हनी ट्रैप में फंसा लिया। उससे लाखों रुपए की मांग कर ले लिए। पुलिस ने संज्ञान में लेते हुए केस दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक वसीम की मुलाकात दो साल पहले मोबाइल दुकान पर अजहर पिता मो. अफजल से हुई थी। उसने 2-3 बार रंजना नागदा से मिलाया और फिर उसने 32 हजार का एप्पल का मोबाइल लिया। फिर अन्य युवती शालू व युवक भूरा पिता मो. रफीक, रहमत पिता हिदायत उल्ला खा व मोहम्मद पिता हिदायत उल्लाह खां ने मिलकर युवतियों के साथ कमरे में बंद कर वीडियो बना ली फिर उसे वायरल करने की धमकी देकर लगातार वसीम को ब्लैकमेल करते रहे। समय-समय पर रुपए की मांग की। 
पुलिस ने बताया वसीम ने बदनामी व डर से आरोपियों को 2 साल में करीब 8 लाख रुपए दे दिए। गुरुवार देर रात को बोहरा गली कॉर्नर पर अजहर, रहमत व साथी वसीम से मिले अाैर रुपए की मांग की। नहीं देने पर मारपीट कर जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने वसीम की शिकायत के आधार पर रंजना नागदा, रहमत पिता हिदायत उल्लाह खां, भूरा पिता मो. रफीक, शालू मुसलमान, अजहर पिता मोहम्मद अफजल व मोहम्मद पिता हिदायत उल्ला खां के खिलाफ धारा 327,384, 386, 323,506 व 34 के तहत केस दर्ज कर लिया। 
फरियादी युवक वसीम। 
मुख्य आरोपी रंजना नागदा। 
मंदसौर में भी हुआ हो चुका हनी ट्रैप का मामला 
कैंट पुलिस के मुताबिक मुख्य आरोपी रंजना नागदा के खिलाफ मंदसौर में भी हनी ट्रैप व अन्य कई मामले दर्ज है। अब नीमच में उसका हनी ट्रैप का मामला उजागर हुआ है। पुलिस के मुताबिक वह अपने सहयोगियों की मदद से इस तरह की वारदातों को अंजाम देती रही है। इसमें वीडियो बनाकर ब्लैक मेलिंग करती है। 

Post a Comment